MP Board Class 11th English The Spectrum Solutions Chapter 11 A Letter to God

MP Board Class 11th English The Spectrum Solutions Chapter 11 A Letter to God

A Letter to God Textual Questions and Answers

Word Power

A. Fill in the blanks with the appropriate words given in the box.
[बॉक्स में से उचित शब्द चुनकर खाली स्थान भरिए।
Answer:

  1. resemble
  2. plague
  3. slightest surprise
  4. bunch of
  5. down pour, shower.

B. Do you know that a single adjective can stand for different meanings.
Now write the correct meanings of each phrase given below.
क्या आप जानते हैं कि एक विशेषण कई अर्थों में प्रयुक्त होता है। अब नीचे दिये गये वाक्यांशों के सही अर्थ लिखिए।
Answer:
(a) a bright student-an intelligent student
a bright light- a strong light
a bright colour-an attractive colour.

(b) a clear sky-a cloudless sky
a clear rivera river which is not dirty
a clear sound sound which can be heard properly.

(c) a light vehicle-a small vehicle
a light colour-a pale colour
a light meal an easy to digest meal.

(d) a fair tackle-a tackle which is not a foul
a fair price-a price which is reasonable
a fair skin a skin which is not dark.

C. “God could not have made a mistake, nor could he have denied Lencho. what he had requested.” Sketch the character of Lencho in the light of this statement.
।”ईश्वर गलती नहीं कर सकता, वह लैन्चो ने जो माँगा था उससे इन्कार भी नहीं कर सकता।” इस कथन के आधार पर लैन्चो का चरित्र-चित्रण कीजिए।
Answer:
Lencho was an honest man. He was very religious. He had tremendous faith in God. He believed that God helped honest people. He also believed that God cared for every one and looked after their needs. He was a worldly wise man too and knew that all men were not honest.

लैन्चो एक ईमानदार इन्सान था। वह बहुत धार्मिक व्यक्ति था। उसका ईश्वर में जबरदस्त विश्वास था। उसे विश्वास था कि ईश्वर ईमानदार लोगों की मदद करता है। उसे यह भी विश्वास था कि ईश्वर हर व्यक्ति का ध्यान रखता है और उसकी आवश्यकताओं की पूर्ति करता है। वह एक सांसारिक व्यक्ति था और जानता था कि सभी इन्सान ईमानदार नहीं होते।

Comprehension

A. Answer the following questions in one or two sentences each.
इन प्रश्नों का एक या दो वाक्यों में उत्तर दीजिए।

Question 1.
Where was Lencho’s house situated ? (2009)
लैन्चो का घर कहाँ था ?
Answer:
It was situated on the crest of a hill in the valley.
वह घाटी में एक छोटी पहाड़ी के शिखर पर स्थित था ?

Question 2.
What crop did he sow? (2010)
उसने कौन-सी फसल बोई थी ?
Answer:
He had sown corn.
उसने मक्का बोई थी।

Question 3.
What hope was left in Lencho’s heart after the storm?
तूफान के बाद लैन्चो के दिल में कौन-सी आशा बची थी ?
Answer:
He had the hope that God will help them.
उसके दिल में यह आशा थी कि ईश्वर उनकी मदद करेगा।

Question 4.
What did Lencho ask God in his letter? (2008, 09)
लैन्चो ने अपने पत्र में ईश्वर से क्या माँगा था।
Answer:
In his letter, Lencho had asked God for one hundred pesos.
अपने पत्र में लैन्चो ने ईश्वर से एक सौ पैसोज़ मांगे थे।

Question 5.
How did the postmaster feel handing the letter to Lencho? (2014)
लैन्चो को पत्र देते समय पोस्टमास्टर को कैसा लग रहा था ?
Answer:
He was feeling the contentment of a man who had performed a good deed.
उसे उस मनुष्य के सन्तोष का अनुभव हो रहा था जिसने एक अच्छा कार्य किया हो।

Question 6.
What was Lencho’s first reaction on opening the letter ?
पत्र खोलने पर लैन्चो की पहली प्रतिक्रिया क्या थी ?
Answer:
He did not show any surprise on seeing the money.
पैसे देखकर उसे तनिक भी आश्चर्य नहीं हुआ।

B. Answer the following questions in two to four sentences each.
[इन प्रश्नों का दो से चार वाक्यों में उत्तर दीजिये।

Question 1.
How did the storm affect Lencho? (2013)
तूफान का लैन्चो पर क्या प्रभाव पड़ा ?
Answer:
The storm totally destroyed the corn in the field. His soul was filled with sadness because all his labour had gone waste.

तूफान ने खेत में खड़ी मक्का की फसल को पूरी तरह से नष्ट कर दिया था। उसका दिल दुःख से भर गया क्योंकि उसकी सारी मेहनत बेकार हो गई थी।

Question 2.
What made the postmaster open Lencho’s letter? (2012, 16)
पोस्टमास्टर ने लैन्धो का पत्र क्यों खोला ?
Answer:
The letter was addressed to God which was unusual. So he became curious to know the contents of the letter.
पत्र ईश्वर के लिए था जो एक अजीब बात थी। इसलिए पत्र में क्या लिखा है यह जानने की इच्छा उसके मन में पैदा हुई।

Question 3.
What did he do to help Lencho?
लैन्चो की मदद करने के लिए उसने क्या किया ?
Answer:
In order not to shake Lencho’s faith in God, he decided to send him the money that he had asked for. He contributed some and asked others for the rest. Thus he collected seventy pesos and put them in an envelope addressed to Lencho.

लैन्चो का ईश्वर पर विश्वास न डिगे इसके लिए उसने लैन्चो को जितने पैसे उसने माँगे थे उन्हें भेजने का निश्चय किया। उसने कुछ पैसे स्वयं दिये और बाकी के लिए दूसरों से अनुरोध किया। इस प्रकार उसने सत्तर पैसोज़ एकत्रित किये और उन्हें एक लिफाफे पर लैन्चों का पता लिखकर उसमें रख दिया।

Question 4.
What did Lencho ask God to do in his second letter? (2008, 15)
अपने दूसरे पत्र में लैन्चो ने ईश्वर से क्या माँगा ?
Answer:
In his second letter he asked God for the remaining thirty pesos. But he asked him not to send the money through the mail. He thought that the employees of the post office were a bunch of crooks.

अपने दूसरे पत्र में लैन्चो ने ईश्वर से बाकी बचे हुए तीस पैसोज़ भेजने को कहा। लेकिन उसने ईश्वर से उन पैसों को डाक से न भेजने को कहा। वह सोच रहा था कि पोस्ट ऑफिस के कर्मचारी बदमाशों का झुण्ड थे।

Question 5.
Why did Lencho ask for help from God ? (2011)
लैन्चो ने ईश्वर से मदद याचना क्यों की ?
Answer:
Lencho asked God for help because his crop was destroyed by storm and his family would have to go hungry that year.
क्योंकि तूफान ने उसकी फसल नष्ट कर दी थी। उसके परिवार को वर्ष भर भूखा मरना पड़ता ।

Language Practice

इस खण्ड के मूल प्रश्न व तालिकाएँ अपनी पाठ्य-पुस्तक में से देखिए। यहाँ केवल उनके उत्तर दिये जा रहे हैं।

A. Change into Passive.
Passive में बदलो
Answer:

  • Tea is being made by my mother.
  • She is being praised by them.
  • Assignment is being done by Rina.
  • Flowers were being made by them.
  • Cellphone has been lost by her.
  • All the gifts have been bought by me.
  • Classwork had been done by him.
  • Lesson has been finished by him.
  • Poetry was being written by them.
  • All rules have been learnt by us.

B. Change the following into passive voice. The tenses to be used are given within brackets.
Answer:

  • This picture is always admired.
  • His leg was hurt in an accident.
  • This exercise is being done very carefully.
  • This box has not been opened for the last hundred years.
  • Two of my dinner plates have been broken.
  • A big battle was fought 200 years ago.
  • You have been invited to lunch tomorrow.
  • This play will be forgotten in a few years time.
  • English is spoken all over the world.
  • Were questions asked about me ?
  • Milk is used for making butter and cheese.
  • You are wanted to help lay the table.
  • The piano was played far too loudly.
  • What has been done about this ?
  • The book will be finished next month.

C. Change these sentences into passive.
Answer:

  • All these words should be looked up in a dictionary.
  • This matter must be gone into.
  • She could not be taken in so easily by you.
  • The house was locked up before they left.
  • It is his wish to see that they have carried out his instructions.
  • People’s complaints should be sent to the head office.
  • It is said that he writes poetry.

A Letter to God Summary in Hindi

एक छोटी पहाड़ी के शिखर पर स्थित उस पूरी घाटी में वह एकमात्र घर था। इतनी ऊँचाई पर स्थित इस घर से नदी और खेत में खड़ी फसल दोनों को आसानी से देखा जा सकता था। फसल को अब जरूरत थी एक जोरदार बारिश की या कम से कम एक अच्छी फुहार की। सारी सुबह लैन्चो, जो अपने खेत को अच्छी प्रकार जानता था, आगमन में उत्तर-पूर्व की ओर देखता रहा।

“अब अच्छी बारिश होने की सम्भावना है।” उसने अपनी पत्नी से कहा। पत्नी जो रात का खाना बना रही थी उसने उत्तर दिया, “हाँ, ईश्वर ने चाहा तो।” बड़े बच्चे खेत में काम कर रहे थे और छोटे घर के पास ही खेल रहे थे। “खाने के लिए आओं” उसने सबको पुकारा। खाने के बीच में ही, जैसी लैन्चो ने भविष्यवाणी की थी, बड़ी-बड़ी बूंदें गिरना शुरू हो गई। उत्तर-पूर्व की ओर से भारी काले-काले बादल आते हुए दिखाई दे रहे थे। हवा ताजगी लिए हुए थी। लैन्चो शरीर पर बारिश का अनुभव करने के लिए बाहर गया और जब वह लौटा तो बोला, “ये बारिश की बूंदे नहीं आसमान से नये सिक्के बरस रहे हैं। बड़ी बूंदें दस सेन्ट के सिक्के हैं तो छोटी पाँच सेन्ट के।”

बड़े सन्तोष से उसने खेत में खड़ी फसल को बारिश से ढंका हुआ देखा। तभी अचानक हवा का जोरदार झोंका आया और उसके साथ आये बड़े-बड़े ओले। खेत एकदम सफेद हो गया, ऐसा लगता था मानो नमक से ढक गया हो। पेड़ों पर एक भी पत्ती नहीं बची। अनाज पूरी तरह नष्ट हो चुका था। लैन्चो की आत्मा दुःख से भर गई। जब तूफान समाप्त हुआ तो खेत में खड़े लैन्चो ने अपने पुत्रों से कहा, “टिड्डियों के उत्पात के बाद भी इससे ज्यादा ही बचता। ओलावृष्टि ने तो कुछ भी नहीं छोड़ा। इस साल हमारे पास अनाज नहीं होगा।” रात बड़ी दुखदायी थी।

“हमारी सारी मेहनत बेकार गई। कोई भी ऐसा नहीं है जो हमारी मदद कर सके। इस वर्ष हम लोगों को भूखे ही रहना होगा।” किन्तु उस घाटी के बीच एक मात्र मकान में जो लोग रह रहे थे उनके हृदय में एक आशा थी, ईश्वर की ओर से मदद। “पूरी तरह से निराश मत हो जाओ, हालांकि यह एक भारी नुकसान है। याद रखो भूख से कोई नहीं मरता।” “हाँ, ऐसा कहते हैं कि भूख से कोई नहीं मरता।” सारी रात लैन्चो के मन में केवल एक ही विचार आता रहा-ईश्वर की ओर से मदद। उसे समझाया गया था कि ईश्वर की आँखे सब कुछ देख लेती हैं-मनुष्य की अन्तर्रात्मा के भीतर की बातें भी उससे नहीं छिपी। लैन्चो हालांकि खेत में बैलों के समान काम करता था किन्तु वह लिखना जानता था। रविवार की सुबह होते ही उसने पत्र लिखना शुरू कर दिया। वह और कुछ नहीं ईश्वर के नाम एक पत्र था।

उसने लिखा, “ईश्वर, यदि आप मेरी मदद नहीं करेंगे तो मुझे और मेरे परिवार को यह साल भूखे गुजारना पड़ेगा। मुझे सौ पैसोज़ की जरूरत होगी। अपने खेत को ‘फिर से बोने के लिए और नई सफल आने तक जीवित रहने के लिए।”, उसने लिफाफे पर पता लिखा “ईश्वर को” और पत्र उसमें रखकर बन्द कर दिया। फिर वह पोस्ट ऑफिस गया, एक टिकिट लेकर उस पर लगाया और उसे लेटर बॉक्स में डाल दिया। एक व्यक्ति जो पोस्ट ऑफिस में काम करता था पोस्टमैन भी था उसने लिफाफा निकाला और हंसते हुए पोस्टमास्टर को दिया जो स्वयं उसे देखकर बहुत हँसा। किन्तु शीघ्र ही वह गम्भीर हो गया, “कितना विश्वास है ! मैं चाहता हूँ कि इतना विश्वास मुझमें भी हो। ईश्वर से पत्र व्यवहार !”

पत्र लिखने वाले के विश्वास को ठेस न पहुँचे इसके लिए उसके मन में एक विचार आया। उसने पत्र लेखक को देने के लिए धन एकत्रित करना शुरू किया-कुछ खुद दिया, कुछ लोगों से माँगा; पर वह सौ पैसोज़ इकट्ठे नहीं कर पाया। आधे से थोड़ा अधिक ही कर पाया। उसने लिफाफे पर लैन्चो का पता लिखा और उसमें पैसों के साथ एक पत्र रखा जिस पर केवल “ईश्वर” लिखा था।

अगले रविवार लैन्चो अपने नाम का पत्र देखने आया तो पोस्टमैन ने उसे वह पत्र दे दिया। पोस्टमास्टर सन्तोष के साथ यह सब देखता रहा। लैन्चो का विश्वास इतना गहरा था कि लिफाफे में पैसे देखकर उसे थोड़ा सा भी आश्चर्य नहीं हुआ। पर उसने जब पैसे गिने तो वह गुस्से से भर उठा। ईश्वर गलती नहीं कर सकता । तुरन्त उसने कागज माँगा और दूसरा पत्र लिखा। फिर टिकिट खरीदकर लिफाफे पर चिपकाया और लैटर बॉक्स में डाल दिया। पोस्ट मास्टर ने स्वयं जाकर पत्र निकाला और खोलकर उसे पढ़ा। उसमें लिखा था, “ईश्वर, मैंने जितने पैसे आपसे माँगे थे उसमें से केवल सत्तर पैसोज़ ही मुझे मिले हैं। मुझे बाकी पैसे भेजिये क्योंकि मुझे उनकी जरूरत है। मगर हाँ, पैसा आप डाक से मत भेजियेगा क्योंकि पोस्ट आफिस के कर्मचारी बदमाशों का झुण्ड हैं लैन्बो ।” -जी. एल. फुन्टेस

A Letter to God Word Meanings of Difficult Words

Learn something new every day.

On this blog you will get to learn something new every day.

Subscribe to our blog newsletter

1 thought on “MP Board Class 11th English The Spectrum Solutions Chapter 11 A Letter to God”

  1. Pingback: MP Board Class 11th English The Spectrum Solutions Chapter 18 India’s Gift to the World » Education Learn Academy

Leave a Reply