MP Board Class 6th General English Solutions Chapter 6 The Test

MP Board Class 6th General English Solutions Chapter 6 The Test

The Test Textual Exercise

Read and Learn
(पढ़ो और याद करो)

Some nouns have irregular plurals. Learn them.
(कुछ संज्ञाओ के बहुवचन अनियमित होते हैं। उन्हें याद करो)

Word Power
(शब्द सामर्थ्य)

1. Make sentences using these word
(इन शब्दों का प्रयोग करके वाक्य बनाओ)
Answer:
1. Ride. I know how to ride a bicycle.
2. Tree. There is a big peepal tree in my garden.
3. Arrow. He pointed an arrow towards his goal.
4. Target. One should fix his eyes upon the target.
5. Successful. Hard working men are always successful.

2. See the list of objects and match with the picture given
(दी गई वस्तुओं की सूची देखकर उनका चित्रों से मिलान करो)
Answer:
Student should do themselves.

Reading Comprehension
(बोध प्रश्न)

1. Choose the correct answer from the given options.
(दिये गये विकल्पों में से सही उत्तर चुनिए।)

1. ……. is the eldest of Pandav Princes.
(a) Arjun
(b) Bhim
(c) Yudhisthir
(d) Nakul.

2. …… is the Kaurav prince.
(a) Yudhisthir
(b) Duryodhan
(c) Dronacharya
(d) Sahadev.

3. ……. was “the targat” in the test.
(a) The bird
(b) The tree
(c) The bird’s right eye
(d) The fruit.

4. ……. shot “the target” finally.
(a) Bhim
(b) Duryodhan
(c) Yudhisthir
(d) Arjun

5. ……. is the teacher of Pandav and Kaurav Princes.
(a) Bhim
(b) Nakul
(c) Dronacharya
(d) Duryodhan.

Answers:
1. (c) Yudhisthir
2. (b) Duryodhan
3. (c) The bird’s right eye
4. (d) Arjun
5. (c) Dronacharya.

2. Answer the following question
(निम्न प्रश्नों के उत्तर लिखें)

Question 1.
Who taught the princes?
(हू टॉट द प्रिंसिज?)
राजकुमारों को कौन शिक्षा देता था?
Answer:
Guru Dronacharya taught the princes.
(गुरु द्रोणाचार्य टॉट द प्रिंसिज)
राजकुमारों को गुरु द्रोणाचार्य शिक्षा देते थे।

Question 2.
Who was the eldest Pandav Prince?
(हू वॉज़ द एल्डेस्ट पाण्डव प्रिंस?)
पाण्डव राजकुमारों में सबसे बड़ा कौन था?
Answer:
Yudhisthir was the eldest Pandav Prince.
(युधिष्ठिर वॉज़ द एलडेस्ट पांडव प्रिंस।)
युधिष्ठिर पाण्डवों में सबसे बड़ा था।

Question 3.
What different skills did Guru Dron teach the princes?
(व्हॉट डिफ्रेण्ट स्किल्स डिड गुरु द्रोण टीच द प्रिंसिज़?)
गुरु द्रोण ने राजकुमारों को कौन-कौन सी विभिन्न विद्याएँ सिखायीं?
Answer:
Guru Dron taught to use different arms, to ride horses and to fight the enemy well.
(गुरु द्रोण टॉट टू यूज़ डिफ्रेण्ड आर्मस, टू राइड हॉर्सेज़ एण्ड टू फाइट द एनीमी वेल।)
गुरु द्रोण ने विभिन्न शस्त्र चलाना, घुड़सवारी करना और शत्रु से युद्ध करना सिखाया।

Question 4.
What was the test?
(व्हॉट वॉज़ द टेस्ट?)
परीक्षा क्या थी?
Answer:
The test was to shoot the right eye of the bird sitting on the tree.
(द टैस्ट वॉज़ टू शूट द राइट आइ ऑफ द बर्ड सिटिंग ऑन द ट्री।)
पेड़ पर बैठी चिड़िया की दाहिनी आँख में तीर मारना ही परीक्षा थी।

Question 5.
Why was he satisfied with Arjun’s answer?
(व्हाय वॉज़ ही सैटिस्फाइड विद अर्जुन्स आन्सर?)
वे अर्जुन के उत्तर से सन्तुष्ट क्यों थे ?
Answer:
He was satisfied with Arjun’s answer because only he could concentrate on the target.
(ही वॉज़ सैटिस्फाइड विद अर्जुन्स आन्सर बिकॉज़ ओनली ही कुड कन्सण्ट्रेट ऑन द टारगेट)
वे अर्जुन के उत्तर से सन्तुष्ट थे क्योंकि केवल अर्जुन ही लक्ष्य पर एकाग्र हो पाया था।

Question 6.
What do we need to do to be successful in life?
(व्हॉट डू वी नीड टू डू टू बी सक्सैसफुल इन लाइफ?)
हमें जीवन में सफल होने के लिए क्या करने की आवश्यकता है?
Answer:
We need to keep our eyes focused only on the goal. Then alone, we can be successful in life.
(वी नीड टू कीप आवर आइज़ फोकस्ड ओनली ऑन द गोल। दैन अलोन, वी कैन वी सक्सैसफुल इन लाइफ।)
हमें अपना ध्यान केवल लक्ष्य पर साधकर रखना चाहिए। तभी हम जीवन में सफल हो सकते हैं।

Grammar in Use
(व्याकरण प्रयोग)

1. Fill in the blanks
Changing nouns from singular to plural.
(रिक्त स्थान भरो : एकवचन संज्ञा से बहुवचन में बदलना)
Answer:

2. Match the correct forms :
(सही रूपों का मिलान करो)
Answer:

Let’s Talk
(आओ, बात करें)

Do yourself
(स्वयं करें)

Let’s Read
(आओ पढ़ें)

See the passage and Questions in the book.
(गद्यांश एवं प्रश्नों को पुस्तक से देखो।)
Answers:

  1. The poor man lived in a small village.
  2. He completed his graduation with the financial help of Village Panchayat.
  3. The farmer used improved varieties of seeds, biofertilizers and water saving irrigation techniques to grow more crops.
  4. Along with agricultural practices he also provides assistance and guidance to other farmers of the district.
  5. His success story presents an example to the educated youth for adopting farming as a profession.

Let’s Write
(आओ लिखें)

Write five sentences about Arjun, with the help of the clues given
(दिये गये संकेतो की सहायता से अर्जुन के बारे में पाँच वाक्य लिखो।)

(A Pandav prince, very good archer, elder to, younger than, son of.)
Answer:

  1. Arjun was a Pandav prince.
  2. He was a very good archer.
  3. He was the son of Pandu.
  4. He was elder to Nakul.
  5. He was younger than Bhim.

Let’s Do
(आओ करें)

Collect pictures of various indoor and outdoor games and paste them in a note book.
(विभिन्न घर के अन्दर व बाहर खेले जाने वाले खेलों के चित्र एकत्रित करो और उन्हें अपनी पुस्तिका पर चिपकाओ।)

(Take help of newspapers and sports magazines)
Hint : Students can collect the pictures of various indoor games such as chess, snakes and ladders, scrabbles etc. and outdoor games such as cricket, football, hockey etc. from the newspapers and sports magazines

The Test Difficult Word Meanings

Prince (प्रिंस)-राजकुमार, Enemy (ऐनिमी)-शत्रु, Bows and arrows (बोज़ एण्ड ऐरोज़)-धनुष-बाण, Use (यूज़)-प्रयोग, Different (डिफ्रेन्ट)-विभिन्न, Arms (आर्मस)-शस्त्र, Fight (फाइट)-लड़ना, Teach (टीच)-शिक्षा देना, Worry (वरी)-चिन्ता, Chance (चान्स)-मौका, Skills (स्किल्स)-क्षमताएँ, Shoot (शूट)-निशाना लगाना, Branches (ब्रान्चेज़)-शाखाएँ, Turn (टन)-बारी, Ready (रैडी)-तैयार, Try (ट्राइ)-प्रयास, Bird (बर्ड)-चिड़िया, Fruits (फ्रूट्स)-फल, Aiming (एमिंग)-निशाना साधते हुए, Pats (पैट्स)-पीठ थपथपाता है, Allowed (अलाउड)-आज्ञा दी, Concentrate (कन्सण्ट्रेट)-एकाग्रता, Target (टारगेट)-लक्ष्य, Focussed (फोकस्ड)-ध्यान लगाना, Goal (गोल)-लक्ष्य, Successful (सक्सैसफुल)-सफल।

The Test Summary, Pronunciation & Translation

Characters
(कैरेक्टर्स)

Dronacharya: The teacher of Panday and Kaurav princes. Yudhisthir, Bhim, Arjun, Nakul, Sahadev Pandav Princes. Duryodhan Kaurav Prince.
(द्रोणाचार्य: द टीचर ऑफ पांडव एण्ड कौरव प्रिंसेज़। युधिष्ठिर, भीम, अर्जुन, नकुल, सहदेव पांडव प्रिंसेज) दुर्योधन कौरव प्रिंस।)

अनुवाद-पात्र:
द्रोणाचार्य: पांडव व कौरव राजकुमारों के गुरु।
युधिष्ठिर, भीम, अर्जुन, नकुल, सहदेव पांडव राजकुमार।
दुर्योधन कौरव राजकुमार।

Place: “Guru Dron’s Ashram”
[In the ashram Guru Dron is talking to the princes. The princes are standing with their bows and arrows.]
प्लेस: “गुरु द्रोण’स आश्रम”
[इन दी आश्रम गुरु द्रोण इज़ टॉकिंग टु द प्रिंसेज। द प्रिसेज आर स्टैंडिंग विद देयर बोज एण्ड ऐरोज़]
Dronacharya: Boys, I’ve taught you how to use different arms, to ride a horse and to fight the enemy well. I am sure each one of you can fight the enemy well.
(द्रोणाचार्य: बॉयज, आइ इव टॉट यू हाउ टू यूज डिफरेन्ट ऑर्स, टु राइड अं हॉर्स एण्ड टु फाइट दी ऐनेमी वैल। आइ एम श्योर ईच वन ऑफ यू कैन फाइट द ऐनेमी वैल।)Now I want to know how much you have learnt.
(नाउ आइ वान्ट टु नो हाउ मच यू हैव लट।)

अनुवाद-स्थान-गुरु द्रोण का आश्रम।
(आश्रम में गुरु द्रोण राजकुमारों से बात कर रहे हैं। राजकुमार अपने तीर और कमान के साथ खड़े हुए हैं।)
द्रोणाचार्य: बच्चों, मैंने तुम्हें विभिन्न शस्त्रों का प्रयोग, घुड़सवारी और शत्रु से अच्छी प्रकार से लड़ना सिखाया है। मुझे विश्वास है तुममें से प्रत्येक शत्रु से अच्छी प्रकार से लड़ सकता है।
अब मैं जानना चाहता हूँ कि तुमने कितना सीखा है।

Nakul : Gurudev, won’t you teach us any more?
(नकुल : गुरुदेव, वुडन्ट यू टीच अस ऐनी मोर?)
नकुल : गुरुदेव, क्या आप हमें आगे कुछ नहीं सिखायेंगे?
Dron : Don’t worry my boys, I will. But today I want to give you a test.
(द्रोण : डॉन्ट वरी माइ बॉयज, आइ विल । बट टुडे आइ वान्ट टु गिव यू अ टैस्ट।)
Sahadev : What type of test will it be?
(सहदेव : व्हाट टाइप ऑफ टैस्ट विल इट वी?)
Guru Dron : A test of your skills.
(गुरु द्रोण : अ टैस्ट ऑफ योर स्किल्स।)
Bhim : What’s the test, Gurudev?
(भीम : व्हाट इज द टैस्ट, गुरुदेव?)
Guru Dron : Come here. Look at the tree (pointing to a tree). There is a bird in the tree, shoot it in the right eye. Are you ready?
(गुरु द्रोण : कम हीअर। लुक एट द ट्री
(पॉइन्टिंग टू अ ट्री) देयर इज़ अ बर्ड इन द ट्री, शूट इट इन द राइट आई। आर यू रेडी?)
Princes : Yes Gurudev, we are.
(प्रिन्सेस : येस गुरुदेव, वी आर।)
Guru Dron : Yudhisthir, you are the eldest, you have the first chance. Are you ready?
(गुरु द्रोण : युधिष्ठिर, यू आर द एल्डेस्ट, यू हैव द फर्स्ट चान्स। आर यू रैडी?)
Yudhisthir : Yes, Gurudev, I am.
(युधिष्ठिर: येस, गुरुदेव, आइ एम।)

अनुवाद:
द्रोण : मेरे बच्चों, चिन्ता मत करो, मैं सिखाँऊगा लेकिन आज मैं तुम्हारी एक परीक्षा लेना चाहता हूँ।
सहदेव : यह किस प्रकार की परीक्षा होगी? गुरु द्रोण : आपकी कुशलता की परीक्षा। भीम : गुरुदेव, क्या परीक्षा है?
गुरु द्रोण : यहाँ आओ। उस पेड़ की ओर देखो। (एक पेड़ की ओर इशारा करते हुए) उस पेड़ पर एक पक्षी है। उसकी दॉयी आँख पर निशान लगाओ। क्या तुम तैयार हो?
राजकुमार : हाँ गुरुदेव, हम तैयार हैं।
गुरु द्रोण : युधिष्ठिर तुम सबसे बड़े हो, तुम्हारी पहली बारी है। क्या तुम तैयार हो?
युधिष्ठिर : हाँ गुरुदेव, मैं तैयार हूँ।

Guru Dron : (Pointing to a bird on a tree) what do you see, Yudhisthir?
(गुरु द्रोण : (पॉइटिंग टू अ बर्ड ऑन अ ट्री) व्हाट डू यू सी, युधिष्ठिर?)
Yudhisthir : Gurudev, I see you, my brothers, the tree, its branches and the bird there.
(युधिष्ठिर : गुरुदेव, आइ सी यू, माइ ब्रादर्स, द ट्री, इट्स ब्रान्चेज एण्ड द बर्ड देअर।)
Guru Dron : Don’t shoot. Now Bhim, it’s your turn. Come and try.
(गुरु द्रोण : डोन्ट शूट। नाउ भीम, इट्स योर टर्न। कम एण्ड ट्राइ।)
Bhim : Yes Gurudev.
(भीम : येस, गुरुदेव।)
Guru Dron : What do you see Bhim?
(गुरु द्रोण : व्हाट डू यू सी भीम?)
Bhim : I see the tree, the blue sky behind it and the bird in the branches of the tree.
(भीम : आइ सी द ट्री, द ब्लू स्काइ विहाइंड इट एण्ड द बर्ड इन द ब्रान्चेज ऑफ द ट्री।)
Guru Dron : Don’t shoot. Duryodhan, it’s your turn now. Get ready and come with your bow and arrows.
(गुरु द्रोण : डोन्ट शूट। दुर्योधन, इट्स योर टर्न नाउ। गैट रैडी एण्ड कम विद योर बो एण्ड ऐरोज।)

अनुवाद:
गुरु द्रोण : (पेड़ पर एक पक्षी की ओर इशारा करते हुए) तुम क्या देखते हो, युधिष्ठिर?
युधिष्ठिर : गुरुदेव, मैं आपको, अपने भाइयों, पेड़, इसकी शाखाएँ और वहाँ पक्षी देखता हूँ।
गुरु द्रोण : निशाना मत लगाओ। अब भीम तुम्हारी बारी है, आओ और प्रयत्न करो।
भीम : हाँ, गुरुदेव। गुरु द्रोण : भीम, तुम क्या देखते हो?
भीम : मैं पेड़, उसके पीछे नीला आकाश और पेड़ की शाखाओं में बैठी चिड़िया देखता हूँ।
गुरु द्रोण : निशाना मत लगाओ। दुर्योधन, अब तुम्हारी बारी है। तैयार हो जाओ और अपने धनुष और बाण के साथ आओ।

Duryodhan : I am ready for the test, Gurudev.
(दुर्योधन : आइ एम रैडी फॉर द टैस्ट, गुरुदेव।)
Guru Dron : Tell me what you see.
(गुरु द्रोण : टैल मी व्हाट यू सी।)
Duryodhan : I see the tree, its branches, green leaves, yellow fruits and the bird.
(दुर्योधन : आइ सी द ट्री, इट्स ब्रांचेज, ग्रीन लीब्ज, येलो। फ्रूट्स एण्ड द बर्ड।)
Guru Dron : Stop, don’t shoot. Go back to your place.
(गुरु द्रोण : स्टॉप, डोन्ट शूट। गो बैक टू योर प्लेस।)
Arjun! Come here. Are you ready for the test?
( अर्जुन ! कम हीयर, आर यू रैडी फॉर द टैस्ट?)
Arjun : Yes, Gurudev.
(अर्जुन : येस, गुरुदेव।)
Guru Dron : What do you see?
(गुरु द्रोण : व्हाट डू यू सी?)
Arjun : I see the bird’s right eye (aiming at the bird).
(अर्जुन : आइ सी द बर्ड्स राइट आई (ऐमिंग ऐट द बर्ड)।)

अनुवाद:
दुर्योधन : मैं परीक्षा के लिए तैयार हूँ, गुरुदेव।
गुरु द्रोण : तुम मुझे बताओ तुम क्या देखते हो?
दुर्योधन : मैं पेड़, इसकी शाखाएँ, हरी पत्तियाँ, पीले फल और चिड़िया को देखता हूँ।
गुरु द्रोण : रुको, निशाना मत लगाओ। अपने स्थान पर वापिस चले जाओ।
अर्जुन! यहाँ आओ। क्या तुम परीक्षा के लिए तैयार हो?
अर्जुन : हाँ, गुरुदेव। गुरु द्रोण : तुम क्या देखते हो?
अर्जुन : मैं चिड़िया की दायीं आँख देखता हूँ।
(चिड़िया पर निशाना लगाते हुए।)

Guru Dron : What other things do you see?
(गुरु द्रोण : व्हाट अदर थिंग्स डू यू सी?)
Arjun : Gurudev, I see nothing else.
(अर्जुन : गुरुदेव, आइ सी नथिंग ऐल्स।)
Guru Dron : What tree is that?
(गुरु द्रोण : व्हाट ट्री इज़ दैट?)
Arjun : I can’t see. I can see the bird’s eye only,
(अर्जुन : आइ कान्ट सी। आइ कैन सी द बर्ड्स आई ओन्ली।)
Guru Dron : Very good, Now shoot.
(गुरु द्रोण : वैरी गुड, नाउ शूट।)

अनुवाद:
गुरु द्रोण : तुम अन्य क्या वस्तुएँ देखते हो?
अर्जुन : गुरुदेव, मुझे इसके अतिरिक्त कुछ नहीं दिखाई देता है।
गुरु द्रोण : वह कौन सा पेड़ है?
अर्जुन : मैं नहीं देख पाता हूँ। मैं केवल चिड़िया की आँख देख सकता हूँ।
गुरु द्रोण : बहुत अच्छा। अब निशाना लगाओ।

(Arjun shoots the bird in its right eye. Dron pats his back and other princes clap)
(अर्जुन शूट्स द बर्ड इन इट्स राइट आई। द्रोण पैट्स हिज़ बैक एण्ड अदर प्रिन्सेस क्लैप।)
Guru Dron : Now boys, do you understand why
(गुरु द्रोण : नाउ बॉयज, डू यू अन्डरस्टैण्ड व्हाई)
I haven’t allowed Yudhisthir, Bhim and Duryhodhan to shoot?
(आइ हैवन्ट् अलाउड युधिष्ठिर, भीम एण्ड दुर्योधन टू शूट?)
All the princes : Because ………, we failed to concentrate on the target.
(ऑल द प्रिंसेस : बिकॉज ………., वी फेल्ड टू कन्सन्ट्रेट ऑन द टार्गेट।)
Guru Dron : That’s right. Always keep your eyes focused only on the goal. Then only will you be successful in your life.
(गुरु द्रोण : दैट्स राइट। ऑलवेज कीप योर आइज फोकस्ड ओनली ऑन द गोल। दैन ओनली विल यू बी सक्सैसफुल इन योर लाइफ।)

अनुवाद:
(अर्जुन चिड़िया की दायीं आँख पर निशाना लगाता है। द्रोण उसकी पीठ थपथपाते हैं और दूसरे राजकुमार ताली बजाते हैं।)
गुरु द्रोण : बच्चों, क्या तुम समझते हो क्यों मैंने युधिष्ठिर, भीम और दुर्योधन को निशाना लगाने की आज्ञा नहीं दी है।।
सभी राजकुमार : क्योंकि हम  पर एकाग्रचित्त होने में असफल रहे।
गुरु द्रोण : यह सही है। हमेशा लक्ष्य पर अपनी आँखें केन्द्रित रखो। तभी तुम जीवन में सफल होगे।

What is the full form of MPBSE?

MPBSE is the short form for Madhya Pradesh Board of Secondary Education. Hemant Singh

MP Board Class 6th General English Solutions Chapter 6 The Test

MP Board Class 6th General English Solutions Chapter 6 The Test

Leave a Reply