MP Board Class 6th General English Solutions Chapter 10 A Kind Boy

MP Board Class 6th General English Solutions Chapter 10 A Kind Boy

MP Board Class 6th General English Solutions
MP Board Class 6th General English Solutions Chapter 10 A Kind Boy

A Kind Boy Textual Exercise

Word Power
(शब्द सामर्थ्य)

Fill in the blanks with the following words:
(निम्नलिखित शब्दों से रिक्त स्थान भरो:)
(hungry, give, eat, near, his, breakfast, he, was, said, came.)
Answer:
A boy was sitting near the window. He was having his breakfast. A beggar came to the window and said, “I have been hungry for two days. Please give me something to eat.” The boy give his breakfast to the beggar. The beggar was very happy.

Comprehension Questions
(बोध प्रश्न)

1. Read the following sentences and tick (✓) for true sentences and cross (✗) for false one.
(निम्नलिखित वाक्यों को पढ़ो और सही वाक्यों पर (✓) तथा गलत वाक्यों पर (✗) का चिह्न लगाओ।)

1. The boy was studying. (✓)
2. The mother gave presents to the boy. (✗)
3. The boy was very hungry. (✗)
4. The beggar had not eaten for two days. (✓)
5. The boy gave his breakfast to the beggar. (✓)
6. The boy was later known as Sardar Bhagat Singh. (✗)

2. Answer the following questions:
(नीचे लिखे प्रश्नों के उत्तर दो:)

Question 1.
Where was the young boy sitting?
(व्हेयर वॉज द यंग बॉय सिटिंग?)
छोटा लड़का कहाँ बैठा था?
Answer:
The young boy was sitting near the window.
(द यंग बॉय वॉज सिटिंग नीयर द विण्डो।)
छोटा लड़का खिड़की के पास बैठा था।

Question 2.
What was he doing near the window?
(व्हॉट वॉज ही डूइंग नीयर द विण्डो?)
वह खिड़की के पास क्या कर रहा था?
Answer:
He was doing his homework at near the window.
(ही वॉज डूइंग हिज होमवर्क नीयर द विण्डो।)
वह खिड़की के पास अपना गृहकार्य कर रहा था।

Question 3.
Why did his mother call him?
(व्हाय डिड हिज मदर कॉल हिम?)
उसकी माँ ने उसे क्यों बुलाया?
Answer:
His mother called him for breakfast.
(हिज मदर कॉल्ड हिम फॉर ब्रेकफास्ट।)
उसकी माँ ने उसे नाश्ते के लिए बुलाया।

Question 4.
What did the beggar say?
(व्हॉट डिड द बैगर से?)
भिखारी ने क्या कहा?
Answer:
The beggar said that he was very hungry and he had eaten nothing for two days.
(द बैगर सेड दैट ही वॉज वैरी हंग्री एण्ड ही हैड ईटन नथिंग फॉर टू डेज।)
भिखारी ने कहा कि बहुत भूखा था और उसने दो दिन से कुछ नहीं खाया था।

Question 5.
Why did the boy give his breakfast to the beggar?
(व्हाय डिड द बॉय गिव हिज ब्रेकफास्ट टू द बैगर?)
लड़के ने अपना नाश्ता भिखारी को क्यों दे दिया?
Answer:
The boy found that the beggar was really very poor and hungry, so he gave his breakfast to the beggar.
(द बॉय फाउण्ड दैट द बैगर वॉज रियली वेरी पूअर एण्ड। हंग्री, सो ही गेव हिज ब्रेकफास्ट टू द बैगर।)
लड़के को भिखारी बहुत गरीब और भूखा लगा। अतः उसने भिखारी को अपना नाश्ता दे दिया।

Question 6.
What did his mother find on the bookshelf?
(व्हॉट डिड हिज मदर फाउण्ड ऑन द बुकशेल्फ?)
उसकी माँ को किताबों की अलमारी पर क्या मिला?
Answer:
His mother found his packed breakfast kept on the bookshelf.
(हिज मदर फाउण्ड हिज पैक्ड ब्रेकफास्ट कैप्ट ऑन द बुकशेल्फ।)
उसकी माँ को उसका नाश्ता बँधा हुआ किताबों की अलमारी पर रखा मिला।

Question 7.
Why did the boy keep his breakfast on the bookshelf?
(व्हाय डिड द बॉय कीप हिज ब्रेकफास्ट ऑन द बुकशेल्फ?)
लड़के ने अपना नाश्ता किताबों की अलमारी पर क्यों रखा?
Answer:
The beggar did not turn up for some days so the boy kept his share on the bookshelf.
(द बैगर डिड नॉट टर्न अप फॉर सम डेज सो द बॉय कैप्ट हिज शेयर ऑन द बुकशेल्फ।)
भिखारी कई दिन तक नहीं आया तो लड़के नै उसका हिस्सा किताबों की अलमारी पर रख दिया।

Question 8.
What moral do you get from this lesson?
(व्हॉट मोरल डू यू गैट फ्रॉम दिस लैसन?)
इस पाठ से आपको क्या सीख मिलती है?
Answer:
It is glorious to help every person.
(इट इज ग्लोरियस टू हेल्प एवरी पर्सन।)
प्रत्येक व्यक्ति की सहायता करना आनन्ददायक है।

Grammar in Use
(व्याकरण प्रयोग)

Fill in the blanks using ‘is’, ‘are’, ‘was’, ‘were’ and answer these questions.
(Is, are, was, were का प्रयोग कर रिक्त स्थान भरो और इन प्रश्नों के उत्तर दो।)
Answer:
1. What day is it today?
Today is Saturday.

2. What day was it yesterday?
Yesterday it was Friday.

3. What month is this?
It’s April.

4. What month was the last month?
It was March.

5. Where are you now?
I am at home.

6. Where were you yesterday?
I was in Delhi.

Let’s Talk
(आओ बात करें)

Work in pairs, Talk about your holidays. Ask the following questions to your partner.
(जोड़े में कार्य करें। अपने अवकाशों के बारे में वार्तालाप करें। अपने साथी से निम्न प्रश्न पूछे।)
Question 1.
Where did you go?
Answer:
I went to Agra.

Question 2.
When did you go?
Answer:
I went on 15th June.

Question 3.
How did you travel?
Answer:
I travelled by train.

Question 4.
Where did you stay?
Answer:
I stayed at My aunt’s place.

Question 5.
How long did you stay fifteen days.
Answer:
I stayed there for fifteen days?

Question 6.
What did you see?
Answer:
I saw the Taj Mahal. The Red Fort and Fatehpur Sikri there.

Question 7.
Did you enjoy the holidays?
Answer:
Yes, I enjoyed my holidays a lot.

Let’s Read
(आओ पढ़ें)

See the passage and questions in the book.
(गद्यांश एवं प्रश्नों को पुस्तक से देखें।)
Answers:
1. The Eskimos live in houses called Igloos.
2. An Eskimo makes his bed of hard snow. He uses skins of animals for sheets and covers.
3. (a) An Igloo is made of large square pieces of ice. (True)
(b) The lamp is filled with gas. (False)
(c) Men, women and children wear clothing made of four. (True)
4. (a) An Eskimo can build an Igloo in one hour.
(b) The lamp is made of soapstone.

Let’s Write
(आओ लिखें)

Monu has written a letter to his uncle, who lives at Gali No. 4, Bazar Mohalla, Nai Basti, Ujjain. He wanted to thank him for sending him a lovely gift on his birthday. Fill in the blanks and complete the letter.
(मोनू ने अपने चाचा जो गली नं. 4, बाजार मोहल्ला, नई बस्ती, उज्जैन में रहते हैं, को एक पत्र लिखा है। वह उनको उसके जन्मदिन पर एक प्यारा सा उपहार देने के लिए धन्यवाद देना चाहता था। खाली स्थान भरो और पत्र पूरा करो।)
(Hints : thank, well, fine, exams, lovely, like, working, aunt, Chhotu)
Answer:

Gali No. 4
Bazar Mohalla
Nai Basti
Ujjain.

Dear Uncle

I am quite well and hope the same for you. Thank you for such a lovely gift. I really like it very much. My exams are near. I am working hard. Rest in fine.
Convey my regards to aunt and love to Chhotu.

Yours lovingly
Monu

Let’s Do
(आओ करें)

Collect pictures of 10 freedom fighters and paste them on your notebook.
(10 स्वतन्त्रता सेनानियों के चित्र एकत्रित करो और अपनी नोट बुक पर चिपकाया।)
Hint: Students can collect pictures often freedom fighters like Bhagat Singh, Subhash Chandra Bose, Mahatma Gandhi, Jawaharlal Nehru, Sardar Vallabh Bhai Patel, Maulana Azad, Bal Gangadhar Tilak, Sukhdev, Lal Bahadur Shastri, Lala Lajpat Rai.

A Kind Boy Difficult Word Meanings

Window (विण्डो)-खिड़की, Called (कॉल्ड) -बुलाया, Breakfast (ब्रेकफास्ट)-नाश्ता, Kitchen (किचिन)-रसोई, Beggar (बैगर)-भिखारी, Looked(लुक्ड)-देखा, Really (रीयली)-सचमुच, felt sorry (फैल्ट सॉरी)-दुःखी हुआ, Poor (पूअर) -गरीब, Hungry (हंग्री)-भूखा, Quickly (क्विकली) -जल्दी-जल्दी, Wondered (वण्डर्ड)-आश्चर्य हुआ, Gave (गेव)-दे दिया, Knowledge (नॉलिज)-ज्ञान, Turn up (टर्न अप)-आया, लौटा, Bookshelf (बुक शेल्फ)-किताबों की अलमारी, Red ants (रेड एण्ड्स) -लाल चीटियाँ, Around (अराउण्ड)-चारों तरफ Found (फाउण्ड)-मिला, Packed (पैक्ड)-बँधा हुआ, Evening (ईवनिंग)-शाम, Corner (कॉर्नर)-कोना, Asked(आस्क्ड )-पूछा, Waiting (वेटिंग)-प्रतीक्षा करता रहा, Share (शेयर)-हिस्सा, Kind (काइण्ड)-दयालु, Known (नोन)-जाने जाते हैं।

A Kind Boy Summary, Pronunciation & Translation

A boy was sitting at his table near the window. He was doing his homework. “Come” his mother called. “Have your breakfast.” The boy went to the kitchen and brought his breakfast. He was about to start eating when a beggar came to the window and said, “Please, give me something to eat. I have not eaten anything for two days”. The boy looked at the beggar. He was really very poor and hungry. He gave his breakfast to the beggar. The beggar quickly ate it. The boy felt sorry for him. He wondered how poor people could be. They don’t get anything to eat for two days and we eat four times a day. Now everyday the boy gave his breakfast to the beggar without his mother’s knowledge.

(अ बॉय वाज सिटिंग ऐट हिज टेबल नीयर द विण्डो। ही वाज डूइंग हिज होमवर्क। ‘कम’, हिज मदर काल्ड। हैव योर ब्रेकफास्ट। द बॉय वैन्ट टु द किचन एण्ड ब्रॉट हिज ब्रेकफास्ट। ही वाज अबाउट टु स्टार्ट ईटिंग हैन अ बैगर केम टु द विण्डो एण्ड सैड, “प्लीज, गिव मी समथिंग टू ईट। आइ हैव नॉट ईटन ऐनीथिंग फॉर टू डेज।” द बॉय लुक्ड ऐट द बैगर। ही वाज रीयली वैरी पूअर एण्ड हंग्री। ही गेव हिज ब्रेकफास्ट टु द बैगर। द बैगर क्विकली एट इट। द बॉय फैल्ट सॉरी फॉर हिम। ही वन्डर्ड हाउ पूअर पीपुल कुड बी। दे डोन्ट गैट ऐनीथिंग टू ईट फॉर टू डेज एण्ड वी ईट फोर टाइम्स अ डे। नाउ ऐवरी डे द बॉय गेव हिज ब्रेकफास्ट टु द बैगर विदआउट हिज मदर्स नॉलिज।)

अनुवाद :
एक लड़का अपनी मेज पर खिड़की के पास बैठा हुआ था। वह अपना गृहकार्य कर रहा था। “आओ” उसकी माँ ने पुकारा, “अपना नाश्ता कर लो।”

लड़का रसोई में गया और अपना नाश्ता ले आया। वह खाना शुरू करने ही वाला था कि तभी एक भिखारी खिड़की पर आया और कहा, “कृपया मुझे कुछ खाने को दे दो। मैंने दो दिनों से कुछ नहीं खाया है।” लड़के ने भिखारी की ओर देखा। वह वास्तव में गरीब और भूखा था। उसने अपना नाश्ता भिखारी को दे दिया। भिखारी ने जल्दी ही इसे खा लिया। लड़के को उसके लिये दुःख हुआ। उसे आश्चर्य था कि लोग इतने गरीब कैसे हो सकते थे। उन्हें दो दिनों तक कुछ भी खाने को नहीं मिलता है और हम एक दिन में चार बार खाते हैं। अब प्रतिदिन लड़का अपनी माँ के बिना पता लगे भिखारी को अपना नाश्ता दे देता था।

One day the beggar did not turn up. The boy thought that he might come in the evening. He kept the breakfast in his bookshelf. The beggar did not turn up in the evening. The next morning, too, the beggar didn’t come. The boy again kept the breakfast in his bookshelf. The beggar did not come for some days. One day, when the boy was at school, his mother saw red ants all around his bookshelf. On the bookshelf she found her son’s breakfasts packed in a corner.

(वन डे द बैगर डिड नॉट टर्न अप। द बॉय थॉट दैट ही माइट कम इन द ईवनिंग। ही कैप्ट द ब्रेकफास्ट इन हिज बुकशेल्फ। द बैगर डिड नॉट टर्न अप इन द ईवनिंग। द नैक्स्ट मॉर्निग टू, द बैगर डिडन्ट कम। द बॉय अगेन कैप्ट द ब्रेकफास्ट इन हिज बुकशेल्फ। द बैगर डिड नॉट कम फॉर सम डेज़। वन डे, व्हैन द बॉय वाज़ ऐट स्कूल, हिज मदर सॉ रैड आन्ट्स ऑल अराउण्ड हिज बुकशेल्फ। ऑन द बुकशेल्फ शी फाउण्ड हर सन्स ब्रेकफास्ट पैक्ड इन अ कॉर्नर।)

अनुवाद :
एक दिन भिखारी नहीं आया। लड़के ने सोचा कि वह शाम को आ जायेगा। उसने नाश्ता किताबों की अलमारी में रख दिया। भिखारी शाम को नहीं आया। अगली सुबह भी भिखारी नहीं आया। लड़के ने फिर किताबों की अलमारी में अपना नाश्ता रख दिया।

भिखारी कुछ दिनों तक नहीं आया। एक दिन, जब लड़का स्कूल में था उसकी माँ ने उसकी किताबों की अलमारी के चारों ओर लाल चीटियों को देखा। अलमारी पर एक कौने पर उन्हें अपने पुत्र के नाश्ते के पैकेट मिले।

In the evening the boy came back from school. His mother asked, “Why aren’t you eating your breakfast these days?” The boy said “Ma, I was waiting for the beggar to take his share”. Then he told his mother about the beggar. “He is very poor and hungry.” Said the boy. He doesn’t get anything to eat. I eat four times a day. So I give my breakfast to him.”

(इन द ईवनिंग द बॉय केम बैक फ्रॉम स्कूल। हिज मदर आस्क्ड, व्हाई आरन्ट यू ईटिंग योर ब्रेकफास्ट दीज डेज?” द बॉय सैड मा, आइ वाज वेटिंग फॉर द बैगर टु टेक हिज शेयर।” दैन ही टोल्ड हिज मदर अबाउट द बैगर । ही इज वैरी पूअर एण्ड हंग्री।” सैड द बॉय। ही डजन्ट गैट ऐनीथिंग टु ईट। आई ईट फोर टाइम्स अ डे। सो आइ गिव माइ ब्रेकफास्ट टु हिम।”)

This kind boy was later known as Netaji Subhash Chandra Bose.
(दिस काइन्ड बॉय वाज़ लेटर नोन ऐज नेताजी सुभाष चन्द्र बोस।)

अनुवाद :
शाम को लड़का विद्यालय से वापिस आया। उसकी माँ ने पूछा, “तुम इन दिनों नाश्ता क्यों नहीं खा रहे हो?” लड़के ने कहा, “माँ, मैं भिखारी को उसका भाग लेने के लिए प्रतीक्षा कर रहा था।” वह बहुत गरीब और भूखा है।” लड़के ने कहा। उसे खाने को कुछ नहीं मिलता है। मैं दिन में चार बार खाता हूँ। इसलिए मैं अपना नाश्ता उसे दे देता हूँ।” यह दयालु लड़का बाद में नेताजी सुभाष चन्द्र बोस के नाम से जाना जाता था।

Welcome To Education Learn Academy

NCERT Solutions — CBSE Sample Papers — Exemplar Problems Download CBSE study materialNCERT books, guides, notes, assignments and test papers with solutions in PDF form. No need to carry NCERT books, it is also available along with the solutions.

1 thought on “MP Board Class 6th General English Solutions Chapter 10 A Kind Boy”

  1. Pingback: MP Board Class 6th Books Free Pdf Download » Education Learn Academy

Comments are closed.